योगी फ़ेरेल की NBA तक की अपारंपरिक यात्रा

नंबर 3 के तरुण बास्केटबॉल प्रोडिजी से अमूल्य स्पार्क-प्लग बनने की अप्रत्याशित यात्रा को निकट से जानें।

केविन "योगी" फ़ेरेल की बास्केटबॉल परी-कथा के पन्ने पलटें तो आपको एक ऐसा अद्भुत अंतिम अध्याय मिलेगा जहाँ चर्चा में न आने वाला, ड्राफ्ट में न लिया जाने वाला एक अदना-सा G-लीग खिलाड़ी, 10 दिन के कॉन्ट्रैक्ट का लाभ उठाकर, रातोंरात असाधारण बन जाता है, जैसा NBA के इतिहास में शायद ही कभी देखा गया हो।

लेकिन 6 फुटे गार्ड हमेशा सीधे रास्ते चलने के आदी रहे हैं, इसलिये उनकी कठिन, अप्रत्याशित राह को पूरी तरह समझने के लिए आपको उसके हर उतार-चढ़ाव, मोड़ों-कोनों का अनुभव करना होगा। इस राह पर जहाँ एक तरफ वे 10 वर्ष की उम्र में देश के नंबर 1 खिलाड़ी बने, वहीँ दूसरी तरफ, प्रोफ़ेशनल बास्केटबॉल का सिर्फ एक गेम खेलने की उम्मीद में दस वर्ष बाद, दुनिया के एक कोने से दूसरे कोने तक 5000 मील का सफर करने को तैयार थे।

और कैसे सही समय पर आयी एक फ़ोन कॉल ने सब कुछ बदल दिया।

“सपने सच भी होते हैं," फ़ेरेल कहते हैं। “जब मैं बच्चा था, तो हमेशा NBA में खेलने के सपने देखता था, इसलिए यहाँ पहुँचना मेरे लिए बहुत ख़ास है।”

जब से उनके पिता केविन फ़ेरेल सीनियर ने पहले-पहल उनके हाथ में बॉल पकड़ाई, तभी से उन्हें प्रोडिजी माना जाने लगा था। योगी याद करते हैं कि तीन साल की उम्र में वे अपने घर के सामने, लिट्ल टाइक्स हूप में बास्केटबॉल फेंकने लगे थे और उसके दो वर्ष बाद YMCA लीग में शामिल हो गए थे। तेरह वर्ष के होते-न-होते वे इंडियानापोलिस के जिम्स में अपने से दोगुने आकार के वयस्क खिलाड़ियों के साथ भिड़ने लगे थे।

लगभग इसी समय, फ़ेरेल हाई-स्कूल गेम्स में NBA के भावी सितारों - माइक कॉनली जूनियर, जॉर्ज हिल, और जेफ टीग के साथ ब्लीचर्स पर बैठते थे और टीवी पर एलेन इवर्सन और कोबे ब्रयांट सरीखों को खेलते देखते थे - "वह जुझारू लोग, जो कोर्ट में जाते हैं और जो करना हो, करते हैं" -  और एक दिन उनकी जगह खेलने के सपने देखते थे।



View this post on Instagram


Year 3 for #3!!!#sacramentoproud #kings

A post shared by Kevin Yogi Ferrell (@yogiferre11) on

जब वे चौथी ग्रेड में पहुँचे, तब बास्केटबॉल के खिलाड़ियों का चयन करने वाली संस्था 'हूप स्कूप' ने उन्हें अपनी क्लास का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी घोषित किया। स्थानीय समाचार-पत्रों में जब यह ख़बर सुर्ख़ियों में छपी, तभी से विरोधी मिडिल स्कूल खिलाड़ियों और कोचों ने उनकी प्रगति में रोड़े अटकाने का काम शुरू कर दिया।

फ़ेरेल सीनियर को लगा कि लगातार चौंधियाने वाली रौशनी में रहने और दिन-रात की यात्रा से बेटे को फ़ायदा कम और नुकसान ज़्यादा हो रहा है, तो उन्होंने अभूतपूर्व निर्णय लेते हुए सातवीं ग्रेड में योगी को AAU सर्किट से निकाल लिया।

दो वर्ष तक फ़ेरेल को सामान्य बचपन बिताने का मौक़ा मिला, जिसमें वीडियो गेम्स, बाइक राइड और टेबल टेनिस की मस्ती शामिल थी। उनका पसंदीदा खेल उनके जीवन से बिलकुल अलग नहीं हुआ था, लेकिन अपनी नंबर 1 रैंकिंग बरक़रार रखने के दबाव से मुक्ति पाकर अब वे पिक-अप गेम्स के मूल सिद्धांतों पर ज़्यादा ध्यान दे सकते थे।

“उस समय मैं इतना ज़्यादा बास्केटबॉल खेल रहा था कि मेरे पास बच्चा बने रहने, अपने क्राफ्ट पर ध्यान देने और स्कूल में बेहतर प्रदर्शन करने का भी समय नहीं था," उन्होंने बताया। "तब मैं नहीं जानता था कि मेरे पिता ने ठीक किया था, लेकिन अब जानता हूँ।”

इस अंतराल ने फ़ेरेल को सिखाया कि बास्केटबॉल के प्रति अपने जुनून को कभी हलके से नहीं लेना चाहिए - जीवन का ऐसा पाठ जो वे अब तक नहीं भूले हैं।

इंडिआना यूनिवर्सिटी में, सेकंड टीम ऑल अमेरिकन ने पहले से अधिक पॉलिश्ड गेम के साथ अपनी जगह बनायी, जिसमें साथियों को चतुराई से पास देना और रोके न जा सकने वाले स्टेप-बैक जंपर्स लगाना शामिल था। चार साल गार्ड रहे फ़ेरेल ने लाल-सफ़ेद रिकॉर्ड बुक में मज़बूती से अपना नाम दर्ज कराया। उन्होंने सबसे ज़्यादा गेम्स स्टार्ट (137) किये और सबसे ज़्यादा असिस्ट (633) किये। अपने करियर का समापन उन्होंने बिग टेन के इतिहास के उन दो खिलाड़ियों में से एक के रूप में किया,जिन्होंने 1800 से अधिक (1,986) पॉइंट, 400 रिबाउंड (438) और 600 असिस्ट दर्ज कराये हैं।

इसके बावजूद, जब जून के अंतिम दिनों में 2016 के ड्राफ्ट का प्रसारण हुआ, तब फ़ेरेल आश्चर्य से 60 अन्य खिलाड़ियों के नाम घोषित होते देखते रहे...उनमें से कुछ आकार में उनसे बड़े थे मगर किसी की उपलब्धियाँ उनके आस-पास भी नहीं थीं।

“वह बड़ी कठिन रात थी, लेकिन मैं जानता था कि मुझे जाना होगा और अपने आपको साबित करना होगा," वे बताते हैं। "लीग में पहले भी कम लम्बे खिलाड़ी हुए हैं, जिन्होंने अपना रास्ता बनाया है, इसलिए मुझे भी आत्मविश्वास मिला।”

जल्दी ही फ़ेरेल ने फिर से तैयार हो रही ब्रुकलिन नेट्स की टीम के साथ गैर-गारंटीशुदा समझौते पर हस्ताक्षर किये लेकिन जब रेगुलर सीजन शुरू हुआ तब उन्हें कभी ब्रुकलिन नेट्स के साथ तो कभी लॉन्ग आइलैंड में उनकी G-लीग के साथ खिलाया गया। कभी-कभी तो वे एक ही दिन में दो-दो बार ब्रुकलिन और लॉन्ग आइलैंड के बीच चक्कर काटते रहे।

दिसंबर के शुरूआती दिनों में, महज़ 10 NBA गेम्स के बाद, फ़ेरेल को ब्रुकलिन की टीम से हटा दिया गया। इस झटके से प्रभावित हुए बग़ैर फ़ेरेल ने तय कर लिया कि वे लॉन्ग आइलैंड में, एकबारगी चमकने वाले नये और एक मौक़ा पाने के लिए आतुर पुराने खिलाड़ियों से भरी G-लीग टीम में अपनी अलग पहचान बनाकर रहेंगे।

“रोनाल्ड नोरेड बेहतरीन कोच हैं, जिन्होंने मुझे सिखाया कि मैं यही समझकर खेलूँ कि मैं NBA में हूँ," फ़ेरेल कहते हैं। “शायद सफ़र और खान-पान NBA जैसा न हो, लेकिन अगर आप अपने शरीर का ध्यान रखते हैं और भरपूर व्यायाम करते हैं तो एक दिन वहाँ ज़रूर पहुँचेंगे। और मैंने उनके कहने पर विश्वास किया।”

लेकिन जब G-लीग में उनके शानदार 18.6 पॉइंट, 5.8 असिस्ट और 2.1 स्टील, और साथ ही रिकॉर्ड बनाने वाले कॉलेजिएट रिज्यूमे के बावजूद NBA के टैलेंट स्काउट्स और अधिकारियों ने उनकी तरफ बिलकुल ध्यान नहीं दिया तब इंडिआना निवासी फ़ेरेल ने बड़े बेमन से अपना पासपोर्ट रिन्यू कराने का फ़ैसला किया।

जैसे ही उन्होंने अपने एजेंट को विदेशों के ऑफर्स पर विचार करने को कहा, तुर्की और रूस सहित तमाम यूरो-लीग क्लबों की कॉल्स से उनका फोन घनघनाने लगा। इनमें लाभप्रद अनुबंधों के साथ समर लीग के चयन से पहले अमेरिका लौटने की भी पेशकश की जा रही थी।

एरी, पेनसिलवेनिया के G-लीग लॉकर-रूम में, 28 जनवरी 2017 को टिप-ऑफ़  से छह घंटे पहले, यह 23 वर्षीय खिलाड़ी अपने बास्केटबॉल भविष्य पर विचार कर रहा था।

यूरोप से मिलने वाले पैसे से वे प्रोफेशनल बास्केटबॉल खेलना जारी रख सकते थे और बसों में अमेरिका के छोटे-छोटे शहरों की दूरी नापने के बजाय ट्रांस-अटलांटिक व्यावसायिक उड़ानों में आराम से सफर कर सकते थे। सैकड़ों खिलाड़ियों ने इसी तरह अपने लिए शानदार करियर बनाये हैं।

दूसरी तरफ़ वे यह भी जानते थे कि इससे NBA में वापसी के पहले से ही कम मौके और धुँधले पड़ जाते, और वे अपने इस बरसों पुराने सपने को तोड़ने के लिए हर्गिज़ तैयार नहीं थे।

तभी उनके एजेंट ने उन्हें फोन किया, इस बार बिलकुल सही समय पर और अप्रत्याशित ख़बर के साथ - डैलस मैवरिक्स ने उन्हें 10 दिन के कॉन्ट्रैक्ट पर रखने की पेशकश की थी।

“यह सब कैसे संभव हुआ, यह अजीब दास्ताँ है," फ़ेरेल बताते हैं। “इसके ठीक एक दिन पहले मेरे एजेंट ने मुझे बताया था कि रूस की ओर से मुझे बहुत बड़ा कॉन्ट्रैक्ट ऑफर किया जा रहा था!”

बताया जाता है कि कई चोट खाये खिलाड़ियों वाली मैवरिक्स की टीम तीन गार्ड्स के नामों पर विचार कर रही थी, जब टीम के मालिक, इंडिआना के ग्रेजुएट, मार्क क्यूबन ने अपनी यूनिवर्सिटी के खिलाड़ी के पक्ष में फैसला किया।

अगर वही फोन कॉल 24 या 48 घंटे बाद आयी होती, तो शायद फ़ेरेल अपने बड़े से सूटकेस में सर्दियों के कपड़े भर चुके होते और मास्को की घुटनों तक पहुँचती बर्फ़ और कँपकँपाती हवाओं के लिए ख़ुद को तैयार कर रहे होते। इसके बजाय उन्होंने टेक्सास की पहली उड़ान पकड़ी और अगली सुबह डैलस प्रशिक्षण केंद्र में हेड कोच रिक कार्लायल से मुलाक़ात की।

ग़ैर-गारंटी वाले अधिकतर खिलाड़ियों को गेम के अंतिम क्षणों में केवल चंद मिनट खेलने का मौक़ा मिलता है और उनका कम-अवधि का अनुबंध समाप्त हो जाने पर वापस G-लीग में भेज दिया जाता है। लेकिन फ़ेरेल तो अधिकतर खिलाड़ी नहीं हैं।

छह घंटों में पूरी प्लेबुक रटने और पेंचीदा हमले और बचाव की योजनायें समझने के बाद उन्हें स्टार्टिंग पॉइंट गार्ड बना दिया गया। उनका पहला काम? चार बार के चैंपियन टोनी पार्कर और स्पर्स का सामना।

फ़ेरेल ने अपने ऑल-स्टार प्रतिद्वंद्वी के ख़िलाफ़ 9 पॉइंट और 7 असिस्ट दर्ज किये और अपने दूसरे स्टार्ट में, कैरी इर्विंग के 21 शॉट्स पर 18 पॉइंट्स के मुक़ाबले 15 शॉट्स पर 19 पॉइंट्स लेकर  पिछले चैंपियन कैवेलियर्स पर जीत हासिल की।

इसके चार दिन बाद, "योगी मेनिया" पूरे ज़ोर पर था। फ़ेरेल ने पोर्टलैंड में रुकी रिकॉर्ड की बराबरी करते हुए 9 थ्री-पॉइंटर और कुल 32 पॉइंट्स लेकर जीत दर्ज की। इस तरह वे NBA के इतिहास में तीसरे अनड्राफ्टेड रुकी बने - 2008 में एंथनी मॉरो के बाद से पहले - जिसने अपने पहले 15 गेम्स में 30 पॉइंट्स बनाये।

“जब मैं खेल रहा था, तो सोच रहा था कि ये भी तो मेरी ही तरह मनुष्य हैं," फ़ेरेल कहते हैं। “मैं हमेशा साबित करना चाहता था कि मेरी जगह यहीं है। वे जानते हैं कि अब मैं यहाँ पहुँच चुका हूँ और निश्चित रूप से यहीं रहूँगा।”

जब तक इस असाधारण गार्ड ने हाल के दिनों में किसी अनड्राफ्टेड रुकी द्वारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पूरा किया - 17.2 पॉइंट्स, 5.0 असिस्ट और 1.8 स्टील - और डैलस को 4-1 का रिकॉर्ड बनाने में मदद की, तब तक उनका 10 दिन का कॉन्ट्रैक्ट जल्द ही दो वर्ष के अनुबंध में बदल चुका था।

“मैं ख़ुशी से फूला नहीं समाया," उन्होंने बताया। “इससे साफ पता चलता था कि मैंने कड़ी मेहनत की और मेरी मेहनत रंग लायी।”

फ़ेरेल ने फरवरी में 'वेस्टर्न कांफ्रेंस रुकी ऑफ़ द मंथ' सम्मान अर्जित किया और डैलस के लिए अपने पहले वर्ष में, 36 गेम्स में 11.3 पॉइंट, 4.3 असिस्ट, और 1.1 स्टील का औसत लेकर एकमात्र ऐसे अनड्राफ्टेड खिलाड़ी बने जिन्हें 2016-17 की ऑल-रुकी सेकंड टीम के लिए चुना गया।

जिन गुणों ने उन्हें एक अज्ञात माइनर-लीग खिलाड़ी से पूर्णकालिक NBA स्टार्टर बनाया - धमाकेदार पहला क़दम, घातक आउटसाइड शॉट, और बॉल के साथ या उसके बग़ैर खेलने की क्षमता - उन्हीं गुणों के कारण वे सैक्रामेंटो के तेज़-रफ़्तार खेल के लिए भी बिलकुल उपयुक्त बैठते हैं।

“यह निश्चित रूप से NBA की सबसे तेज़ टीम है, जिसके साथ मैं खेला हूँ, इसलिए यह ठीक मेरे स्वाभाव के अनुरूप है," वे कहते हैं। “मुझे लगता है कि मैं नेट्स और डैलस के साथ अपने अनुभव साझा कर सकता हूँ और किंग्स को उसका लाभ दे सकता हूँ।”

किसी भी डिफेंडर के ख़िलाफ़ रिम तक पहुँचने में अपनी गति का इस्तेमाल करते हुए, नंबर 3 ने रुकी के तौर पर 8.9 ड्राइव प्रति गेम का औसत निकाला, जो NBA.com के अनुसार पिछले सीजन में सर्वोच्च स्थान के लिए डी आरोन फ़ॉक्स (8.4) को भी पीछे छोड़ सकता था।

basketball-reference.com के अनुसार 2017-18 में, फ़ेरेल ने कोर्ट में अपना अधिकतर समय शूटिंग गार्ड (63 प्रतिशत) में लगाया, और कभी-कभी स्मॉल फॉरवर्ड (15 प्रतिशत) भी आज़माया। इसके फलस्वरूप, हालाँकि उनके असिस्ट 3.7 से 2.5 प्रति गेम रह गये और रिम पर हमले भी कम हुए (5.0 ड्राइव), लेकिन वे बेहतरीन मिड-रेंज स्कोरर (47.7 percent) के रूप में उभरे।

फ़ेरेल जब भी आर्क के पीछे गये हैं, NBA में 37.5 प्रतिशत और G-लीग में 39.9 प्रतिशत कनेक्ट करने में सफल रहे हैं। यही नहीं, कैच एंड शूट परिस्थितियों में उनका प्रदर्शन शानदार रहा है और अक्सर कोर्ट में दौड़ लगाकर लॉन्ग रेंज से भी सफलता हासिल की है।

साथ ही, उन्होंने पिक एंड रोल स्थितियों में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। पिछले सीजन में उन्होंने 0.91 पॉइंट प्रति पज़ेशन (76 परसेंटाइल) बनाये, जिसने उन्हें लीग में कम से कम 250 पज़ेशन वाले सभी खिलाड़ियों के बीच 17वें स्थान के लिए जेम्स हार्डेन और जिमी बटलर के साथ ला खड़ा किया।

“यही (बहुमुखी प्रतिभा) मुझे कोर्ट में दोहरा ख़तरा बनाती है," फ़ेरेल कहते हैं। “उन्हें कोर्ट में मेरा सभी पहलुओं से सम्मान करना पड़ता है, और क्योंकि मैं इस तरह पोज़ीशन बदल सकता हूँ, तो इसका फायदा हमें निश्चित रूप से मिलेगा।”

फ़ेरेल ने अब तक सैक्रामेंटो को इस दावे का लाभ दिलाया है। उन्होंने स्कोरबोर्ड को सुशोभित करने की अपनी आदत के अनुसार, अपने प्री-सीजन पहले गेम में, 1 अक्टूबर को सन्स के ख़िलाफ़ 14 शॉट्स पर 26 पॉइंट लिए और रेगुलर सीजन में 10 गेम्स (2 स्टार्ट) में 15.2 मिनट प्रति गेम में 5.9 पॉइंट्स जोड़े।

कोर्ट में 22 मिनट के साझा समय में, फ़ॉक्स और बडी हेल्ड के साथ नंबर 3 ने 124.0 की आक्रामक रेटिंग दर्ज कराई और विरोधियों को 28 पॉइंट्स प्रति 100 पज़ेशन से पीछे छोड़ दिया।

किंग्स के साथ अपने सीमित समय में उन्होंने जो प्रभाव जमाया वह क्षणिक नहीं है। फ़ेरेल ने पिछले सीजन में मैवेरिक्स के साथ दूसरे सबसे अधिक मिनट का खेल खेला और सभी रेगुलर्स के बीच टीम को प्लस - 7.9 पॉइंट्स ऑन-ऑफ़ कोर्ट नेट रेटिंग पर पहुँचाया।

“ख़ास बात यह है कि मैं कोर्ट में ऊर्जा लेकर आता हूँ, चाहे वह बचाव में हो या आक्रमण में," वे कहते हैं। “मैं चाहता हूँ कि मैं बेंच से चिंगारी की तरह उठूँ और टीम को वह दूँ जिसकी उसे जीतने के लिए ज़रुरत हो।”

>

फ़ेरेल की उल्लेखनीय कहानी अभी लिखी जा रही है, लेकिन अब तक उन्होंने जिस तरह बाधाओं को पार किया है और हर स्तर पर अपना वर्चस्व साबित किया है, उससे कोई संदेह नहीं रह जाता कि यह कहानी सुखान्त ही होगी।

“यह यात्रा मज़ेदार रही है," उनका कहना है। “मैं भाग्यवान हूँ कि आज इस स्थिति में हूँ। यहाँ तक पहुँचने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की है, मेरे पूरे जीवन, पूरे करियर भर। जो कुछ भी हो, मैं निश्चित रूप से उसे कोर्ट में दिखाकर रहूँगा ताकि बाद में कोई अफ़सोस न रहे।”

Tags

Related Content