किंग्स की किक परेड

सैक्रामेंटो टीम की जूता संस्कृति पर एक नज़र।
by Kyle Ramos
Social Coordinator

वैसे तो बास्केटबॉल और जूतों का पुराना साथ रहा है लेकिन आज कल स्नीकर संस्कृति ज़ोरों पर है।

एसोसिएशन में आजकल बहुत से खिलाड़ी हर गेम के साथ, और कभी-कभी तो हर क्वार्टर के साथ अपने जूते बदल रहे हैं। 

The Sacramento Bee में हाल में प्रकाशित एक लेख के अनुसार किंग्स के लॉकर रूम में तरह-तरह के स्नीकर्स पाये जा सकते हैं।

उदाहरण के तौर पर, हैरी जाइल्स द थर्ड का कहना है कि उनके पास कम से कम 200 जोड़ी जूते हैं। हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि वे कोशिश कर रहे हैं कि जूते खरीदना कम करें।

“मेरे पास ज़रुरत से ज़्यादा जूते हैं," जाइल्स ने सैक्रामेंटो बी को बताया।

जस्टिन जेम्स का लीग में यह पहला सीजन है, लेकिन उन्होंने करियर के इस शुरुआती दौर में ही अपने जूतों के संग्रह में वृद्धि करना शुरू कर दिया है।

 


“हमें बहुत सारे जूते पहनने को मिलते हैं, लेकिन जब कभी हमें किसी ख़ास जूते की तलब होती है, तो वो हमें अपने पैसे से खरीदना पड़ता है," एक रुकी ने बताया। "ज़ाहिर है, हम इसका बुरा भी नहीं मानते।"

NBA के फैन्स जान गये हैं कि डी आरोन फ़ॉक्स को खेल के दौरान तरह-तरह के नायाब जूते पहनने का शौक़ है। वे कोर्ट में अलग-अलग रंग और स्टाइल के स्नीकर पहने नज़र आते हैं।

स्वीपा ख़ुद तो स्नीकर-हेड कहलाना पसंद नहीं करते, लेकिन कहते हैं कि उनसे ज़्यादा उनका भाई क्वेंटिन इस उपाधि का हक़दार है।

“वह मेरे लिए अपने से भी ज़्यादा चीज़ें खरीदकर लाता है," किंग्स के पॉइंट गार्ड कहते हैं। "उसे इसमें बहुत रूचि है। वो क्रिएटिव टाइप का है। मैं जब किसी गेम के दौरान कोई नायाब चीज़ पहनता हूँ, तो वह उसकी बनायी हुई होती है।"


फ़ॉक्स अकेले नहीं हैं, जिनके जूतों की पसंद पर उनके परिवार वालों का प्रभाव है। रिचऑन होम्स का कहना है कि उनके जूतों के सिलेक्शन में उनकी माँ का बड़ा हाथ होता है।

“मेरी माँ बराबर मुझे जूते भेजती रहती हैं," नंबर 22 कहते हैं। "मज़ेदार बात यह है कि मुझसे ज़्यादा वे जूतों की शौक़ीन हैं।"

हेड कोच ल्यूक वॉल्टन एक पूर्व खिलाड़ी हैं, जिन्हें स्नीकर कल्चर की बात एक हद तक तो समझ में आती है, लेकिन उनका ध्यान टीम के जूतों से ज़्यादा उनके प्रदर्शन पर केंद्रित रहता है। 

“लेकिन खिलाड़ी जिससे आराम महसूस करें और खेलने को तत्पर रहें, हम हर ऐसी चीज़ उन्हें उपलब्ध कराना चाहते हैं।"

Tags

Related Content


NEXT UP:

  • Facebook
  • Twitter