बास्केटबॉल के मूल सिद्धांतों के सहारे बढ़ते जस्टिन 

देखिये वर्तमान ACC प्लेयर ऑफ़ द इयर, घर में शिक्षित खिलाड़ी से सैक्रामेंटो के उभरते सितारों के केंद्र-बिंदु किस तरह बने। 

NCAA चैम्पियशिप में ज़ोरदार जम्प शॉट्स लगाने और किंग्स के प्रशिक्षण शिविर में टार हील्स के अपने पुराने साथी विन्स कार्टर के साथ थ्री-पॉइंट स्पर्धाओं में उतरने से दशकों पूर्व, जस्टिन जैक्सन ने, दो साल की उम्र में ही, ह्यूस्टन टेक्सस के अपने घर में प्लास्टिक हूप पर अपनी टेक्स्टबुक शूटिंग को निखारना शुरू कर दिया था।

नॉर्थ कैरोलाइना में रॉय विलियम्स और सैक्रामेंटो में डेव जोएर्गर से बहुत पहले, ब्लिन कॉलेज की बास्केटबॉल स्टैंडआउट, उनकी माँ - शैरन और उसी संस्थान के ट्रैक एंड फ़ील्ड स्टार, उनके पिता - लॉयड उनके पहले कोच थे।  

“मेरा परिवार हमेशा बास्केटबॉल फ़ैन रहा है,” जैक्सन बताते हैं। “जब मैं दो साल का था, तभी वे बच्चों वाला गोल घर ले आये थे और हम घर भर में खेलते रहते थे। जब मैं कुछ बड़ा होने लगा, हम ज़रा क़ायदे से खेलने लगे। मेरे विकास में मेरे माँ-बाप का बड़ा हाथ है।”

जैक्सन की मूल सिद्धांतों की जानकारी ने उन्हें AAU स्टैंड-आउट से ACC प्लेयर ऑफ़ द इयर और फिर NBA ड्राफ्ट में पन्द्रहवें नंबर पर चुने जाने तक भारी मदद की है। 

हरफ़नमौला फ़ॉरवर्ड जैक्सन, हॉल ऑफ़ फ़ेमर जॉर्ज गेर्विन के प्रशंसक हैं इसीलिए उन्होंने नॉर्थ कैरोलाइना यूनिवर्सिटी में 44 नंबर चुना और "दी आइसमैन" के चतुराई भरे खेल को अपनाया।  

“हाई स्कूल में किसी ने मेरी तुलना उनसे की थी, जो बहुत बड़ी बात थी," जैक्सन कहते हैं। “मैंने उनके बारे में जानना शुरू किया और उनका खेलने का तरीका मुझे बहुत पसंद आया। मुझे लगा कि वे कुछ-कुछ वैसा ही खेलते हैं, जैसा मैं खेलता हूँ। मैंने सोचा ये आदमी तो ऑलटाइम ग्रेट्स में से एक है, तो मैं भी क्यों न इसकी तरह खेलने की कोशिश करूँ?"

सर्वसम्मति से ऑल अमेरिकन फर्स्ट टीम में चुने गए जैक्सन जब अपने जूनियर सीजन के बाद चैपल हिल कैंपस से विदा हुए, तब तक वे न सिर्फ संस्थान का सिंगल सीजन थ्री-पॉइंटर रिकॉर्ड (105) अपने नाम कर चुके थे बल्कि उसके गौरवमय इतिहास के दूसरे ऐसे खिलाड़ी बन गए थे, जिसने 1600 से अधिक पॉइंट्स, 150 थ्री-पॉइंटर्स, 400 रिबाउंड और 300 असिस्ट अपने नाम दर्ज  कराये। 

लीग तक पहुँचने का जैक्सन का मार्ग, उनके बास्केटबॉल आदर्श के मुक़ाबले - या कहें कि किसी भी पूर्व या वर्तमान NBA खिलाड़ी के मुक़ाबले, कम सीधा और परम्परागत रहा। 

चौथी ग्रेड से हाई स्कूल तक घर ही में पढ़े जैक्सन ने दस वर्ष की उम्र में सिनसिनाटी ट्रेलब्लेज़र्स की 14 वर्ष या उससे कम आयु के बच्चों की टीम में अपना नाम दर्ज कराया और परिवार के टेक्सस चले जाने के बाद होमस्कूल क्रिस्टियन यूथ एसोसिएशन वॉरियर्स वर्सिटी टीम का नेतृत्व  किया।

जैक्सन ने AAU सर्किट में भारी नाम कमाया। ह्यूस्टन हूप्स टीम के लिए, अपने किंग्स के भावी टीम-मेट डी एरोन फॉक्स और 2015 में NBA ड्राफ्ट के पहले राउंड में चुने गए जस्टिस विंस्लो और केली ऊब्रे के साथ खेलते हुए जैक्सन ने अपने पूरे वर्ग में  ESPN रैंकिंग्स में नंबर 8 स्थान प्राप्त किया।    

आम धारणा के विपरीत, घर में पढाई करने से कॉलेज रिक्रूटमेंट प्रक्रिया के दौरान उन्हें कोई मुश्किल नहीं हुई। परेड के लिए ऑल अमेरिकन रहे जैक्सन पर आठवीं ग्रेड से ही स्काउट्स की नज़र थी और जब तक वे हाई स्कूल में दाख़िल हुए, लगभग दो दर्जन कॉलेज उन्हें अनुबंधित करना चाहते थे।  

आख़िर बहुत कम ऐसे प्रत्याशी थे जो वर्सिटी टीम में 31.5 पॉइंट, 9.1 रिबाउंड और 1.9 ब्लॉक प्रति गेम के औसत के साथ 4.0 GPA बनाये रख सकते हों, और साथ ही मैक्डोनल्ड के ऑल अमेरिकन गेम में संयुक्त रूप से MVP सम्मान जीतने में भी कामयाब हुए हों। 

यही नहीं, जैक्सन का मानना है कि घर में हुई पढ़ाई ने उनकी शैक्षिक तथा खेल गतिविधियों को बढ़ावा दिया और उनके समग्र विकास में मदद की। 

वे कहते हैं - "बास्केटबॉल में ही नहीं, एक व्यक्ति के रूप में मेरे विकास में भी इसकी बहुत अहम भूमिका है। इसने मुझे अपने परिवार और अपने दोस्तों के साथ रहने के लिए ज़्यादा समय दिया। मुझे अपने खेल पर हर रोज़ ध्यान देने और अच्छा प्रभाव रखने वाले लोगों के आस-पास रहने का मौक़ा मिला, जो बड़ी बात है।"

अपने करियर के अब तक के सबसे कठिन समय के दौरान, मार्गदर्शन और परामर्श के लिए जैक्सन, पहले से भी ज़्यादा अपने परिवार पर निर्भर रहे।  

2016 की नेशनल चैंपियनशिप में यूनिवर्सिटी ऑफ़ नॉर्थ कैरोलाइना की दुखद हार के बाद, NBA के मूल्यांकनकर्ता सोचने लगे थे कि क्या जैक्सन, जो अपने पहले दो कॉलेजिएट सीजन के दौरान, स्वभाव के विपरीत, 212 थ्री-पॉइंट प्रयासों में से 63 (29.7 प्रतिशत) में सफल रहे थे, अगली पायदान पर जाने के लिए तैयार थे। 

ड्राफ्ट के लिए तैयार होने की घोषणा करने के बाद, 6 फुट 8 इंच के फॉरवर्ड, दोहरे मिशन पर नॉर्थ कैरोलाइना वापस लौट आये। यहाँ उन्होंने अनगिनत रातें डीन स्मिथ सेंटर में जम्प शॉट का अभ्यास करते हुए गुज़ारीं ताकि अपनी खोयी रिद्म फिर प्राप्त कर सकें। 

“मुझे लगता था कि मेरी कुछ चीज़ें ऐसी हैं, जिन्हें मैं बेहतर बना सकता हूँ," उन्होंने बताया। “और ये भी सोचता था कि हमारी टीम ऐसी है, जो कुछ बड़े काम कर सकती है।" 

जैक्सन ने न सिर्फ अपनी एक्यूरेसी बेहतर की बल्कि देश के सबसे ज़बरदस्त नॉक-डाउन शूटर्स में से एक बन गए। नंबर 44 ने अपने थ्री-पॉइंट फील्ड गोल का प्रतिशत बढ़ाकर 37.0 तक पहुँचाया और उससे दोगुने ट्रिपल (7.1 प्रति गेम ) अपने नाम करने का प्रयास किया। sports-reference.com के अनुसार पिछले दशक में वे केवल दसवें ऐसे खिलाड़ी हैं, जिसने इतनी तेज़ी से थ्री-पॉइंट में 100 का आंकड़ा पार किया।  

टार हील्स टीम के MVP जैक्सन, पूरे सीजन, कड़े मुक़ाबलों और कठिन परिस्थितियों में हमेशा आगे रहे - चाहे वह 17 दिसंबर 2016 को फ़ॉक्स और केंटकी के ख़िलाफ़ बनाये करियर के सर्वश्रेष्ठ 34 पॉइंट हों या 9 फरवरी को देश भर में टीवी पर दिखाए गए, कट्टर प्रतिद्वंद्वी ड्यूक के ख़िलाफ़ बनाये 21 पॉइंट।     

अंतिम चार गेम्स में, जब उनकी टीम का सामना तीसरे नंबर की टीम - ऑरेगोन से था, जैक्सन ने चार मिनट के भीतर तीन ट्रिपल लगाए और लगभग अकेले दम UNC को वापस नेशनल टाइटल की दौड़ में ला खड़ा किया। 

जैक्सन के परम गौरव का क्षण, उनके कॉलेजिएट खिलाडी के रूप में अंतिम दिन आया, जब उन्होंने गौनज़ैगा बुलडॉग्स की जीती हुई बाज़ी को पलटते हुए अपनी टीम को चैंपियनशिप दिलाने में अहम भूमिका निभायी। इसके साथ ही, वे खुद भी, एक गुमनाम खिलाड़ी से नेशनल चैंपियनशिप जीतने वाली टीम की प्रेरक शक्ति बने, जिसे जल्द ही NBA के पहले राउंड में चुना जाना था।  

उत्तरी कैलिफ़ोर्निया में आते ही ओवर-ऑल नंबर 15 ने किंग्स परिसर की सुविधाओं का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। उन्होंने अभी से अपने कोचिंग स्टाफ और टीम- मेट्स पर ज़ोरदार प्रभाव डाला है, जो मान रहे हैं कि उनकी टीम के उदय के दिन आ गए हैं। 

“वह रोज़ मेहनत करता है," जोएर्गर ने बताया। “कह सकते हैं कि वह ज़रुरत से ज़्यादा मेहनती है- हमारे प्रोग्राम और कार्य-संस्कृति के लिए शानदार व्यक्ति।" 

अपने पहले ही विस्तारित अवसर में, जैक्सन ने समर लीग में किंग्स की ओर से स्कोर करने का ज़िम्मा सँभाला और 6 स्पर्धाओं में औसतन 16.6 पॉइंट जोड़े, जो टीम में सबसे अधिक थे। छोटे क़द के इस खिलाड़ी ने अपने पहले ही गेम में 63.6 प्रतिशत फील्ड गोल बनाकर 18 पॉइंट अपने नाम किये और फिर लास वेगस प्रतियोगिता में ताबड़तोड़ 29 पॉइंट लेकर फ़ीनिक्स सन्स पर जीत दर्ज करायी।   

“कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो सामान्य से बेहतर होते हैं और यह उनमें से एक है," किंग्स के समर लीग कोच जेसन मार्च का कहना है। "आप कोर्ट में उस पर भरोसा कर सकते हैं। वह हर बार सही काम करेगा या सही काम करने की कोशिश करेगा।" 

रेगुलर सीजन के प्रारम्भ से ही जैक्सन ने जहाँ से छोड़ा था, ठीक वहीँ से शुरुआत की है  - टीम में उनकी भूमिका कुछ भी हो, उनकी शानदार स्कोरिंग और सही निर्णय लेने की आदत जारी है। टेक्सस निवासी जैक्सन ने दस गेम्स - पाँच स्टार्ट्स - में 46.4 प्रतिशत फील्ड और 36 प्रतिशत लॉन्ग-रेंज गोल बनाकर 6.4 पॉइंट का औसत निकाला है। मंगलवार को ओक्लाहोमा सिटी थंडर के विरुद्ध सैक्रामेंटो की जीत में उन्होंने अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ 16 पॉइंट बनाये। 

एकपक्षीय शूटर होने के बजाय 22 वर्षीय खिलाड़ी ने अपनी ख़ास शैली विकसित की है। इसमें हाई-आर्चिगं फ्लोटर और क्लीन लूक्स ऑफ पिन-डाउन स्क्रीन की कुशलता शामिल है जिसे उन्होंने NBA स्तर तक पहुँचाया है। 

NBA.com के अनुसार आक्रामक खेल खेलते हुए, उनके 26 फील्ड गोल में से 23 (88.5 प्रतिशत) में उनके किसी टीममेट का सहयोग रहा है, जिनमें सात डंक या ले-अप भी शामिल हैं। कुल मिलाकर किंग्स के इस नए खिलाड़ी के 12 में से 11 शॉट्स बास्केट के पांच फुट के अंदर रहे हैं, जो कम से कम 10 प्रयास वाले लीग के सभी खिलाड़ियों में दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। 

जैक्सन की स्वावलम्बी कार्य शैली की अनदेखी नहीं की जा सकती लेकिन जैसे-जैसे वे NBA के खेल के साथ तालमेल रखना सीखेंगे, उनके माता-पिता का लगातार सहयोग भी उनकी प्रगति में सहायक बना रहेगा। 

“मेरी पत्नी के अलावा वे मेरे सबसे बड़े समर्थक रहे हैं, और वे अपना बहुत सा समय, धन, यात्रा, और ऐसा ही बहुत कुछ मेरे करियर में लगाते रहते हैं," जैक्सन का कहना है। “मैं कैसे उन्हें धन्यवाद दे सकता हूँ? उन्हीं के कारण मैं आज यहाँ हूँ और आशा करता हूँ कि लगातार आगे बढ़ता रहूँगा।"

 

Tags

Related Content