भारत यात्रा के साथ हैरिसन बार्न्स बने अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी

अपनी पहली भारत यात्रा के दौरान, किंग्स के स्माल फ़ॉरवर्ड ने सैक्रामेंटो में अपने थोड़े-से समय, वहाँ की संस्कृति और अन्य विषयों पर बातचीत की।

"आप NBA में खेल रहे हैं और यही सबसे महत्वपूर्ण बात है।"

सैक्रामेंटो तक के हैरिसन बार्न्स के सफ़र में बहुत से मोड़ आये, जिनमें इस वर्ष फरवरी का बहुचर्चित पल भी शामिल है।

"बहुत सी ऐसी बातें हैं जिन पर आपका कोई बस नहीं चलता लेकिन कोर्ट में जाना और खेलना सबसे अच्छा लगता है।"

केवल 26 वर्ष के बार्न्स इन दिनों भारत में बहुत से आयोजनों में हिस्सा ले रहे हैं, जिनमें जूनियर NBA क्लीनिक, टीवी कार्यक्रम और ट्रेनिंग भी शामिल हैं।

Firstpost के साथ इंटरव्यू में बार्न्स ने अपनी देशी-विदेशी यात्राओं के अलावा यह भी बताया कि उनके करियर के लक्ष्य क्या हैं।

"जब मैं सैक्रामेंटो आया तो मेरा शानदार स्वागत हुआ," नंबर 40 ने कहा। "टीम के साथियों से, प्रशंसकों से और शहर के लोगों से। तो किंग्स में बहुत अच्छा लग रहा है।"

हालाँकि वे लीग में सिर्फ सात सीजन से हैं, फिर भी पूर्व टार हील खिलाड़ी को युवा किंग्स के बीच वेटेरन यानि वरिष्ठ और अनुभवी खिलाड़ी समझा जाता है। उन्हें अपने इस ख़िताब पर बहुत गर्व है।

"मैं जिन टीमों के साथ रहा हूँ, उनमें से यह सबसे युवा टीम है," हैरिसन कहते हैं। "इस दृष्टि से किंग्स के लिए खेलना मज़ेदार है। खेल संस्कृति बेहतरीन है।  खिलाड़ी कम-उम्र, जीत के लिए भूखे और सीखने को तत्पर हैं।"

बार्न्स सात दिन की भारत यात्रा पर हैं और दिल्ली तथा मुंबई में ठहरने वाले हैं।

"यहाँ का खाना अमेरिका से कहीं अच्छा है," बार्न्स बताते हैं। "मुझे तो पहले से ही भारतीय खाना बहुत पसंद है। कोशिश करूँगा कि मेरे टीम-मेट्स भी इसे खाकर देखें।"

देखते हैं कि प्री-सीजन में.जब टीम भारत आयेगी, तब हैरिसन अपने टीम-मेट्स को इसके लिए राज़ी कर पाते हैं या नहीं।

Related Content


NEXT UP:

  • Facebook
  • Twitter