चिर प्रतिद्वन्द्वी के लिए तैयार हैं फॉक्स 

किंग्स और लेकर्स की टीमें आमने-सामने हैं, आइये देखें सैक्रामेंटो के रुकी फॉक्स किस तरह पॉइंट-गार्ड शो-डाउन की तयारी कर रहे हैं। 

किंग्स और लेकर्स के प्रशंसकों को गर्मियों के मध्य से ही इस दिन का इंतज़ार है, लेकिन डी एरोन फॉक्स के लिए बुधवार को लॉस एंजल्स के गार्ड लोंज़ो बॉल के साथ मुक़ाबला सिर्फ "एक और गेम" है। 

“कैसी प्रतिद्वंद्विता?” वे लॉकर से सर टिकाते हुए, मुस्कुराकर पूछते हैं। “यहाँ कोई प्रतिद्वंद्विता नहीं है। जब हम कोर्ट पर होते हैं तब खेलते हैं। लेकिन जहाँ तक प्रतिद्वंद्विता का सवाल है, वह मीडिया और फैन्स ने खड़ी कर रखी है।" 

इन दोनों को एकसाथ बास्केटबॉल कोर्ट में उतरे लगभग आठ महीने बीत चुके हैं - वह यादगार, रात जब पैसिफ़िक डिवीज़न के इन दोनों सेनानियों के बीच मैत्रीपूर्ण प्रतिस्पर्धा की चिंगारी भड़की थी। 

सैक्रामेंटो के नंबर 5 पिक उस दिन को याद कर आज भी मुस्कुराते हैं, जब 24 मार्च को NCAA टूर्नामेंट के स्वीट सिक्सटीन में उनकी वाइल्डकैट टीम ने बॉल की ब्रुइन्स टीम को 86-75 से शिकस्त दी थी। उस समय केंटकी के गार्ड फॉक्स ने धमाकेदार करियर-हाई 39 पॉइंट्स बनाये थे, जिनमें 20 में से 13 फील्ड के अंदर से थे। दूसरी तरफ, उन्होंने बॉल को 10 पॉइंट, 8 असिस्ट और 4 टर्नओवर तक सीमित कर दिया था। 

इससे पहले, 3 दिसंबर, 2016 को उनकी पिछली रेगुलर सीजन भिड़ंत में, UCLA 97-92 के मामूली अंतर से जीती थी, हालाँकि दोनों पॉइंट गार्ड्स की टक्कर में फॉक्स ही आगे रहे थे।  बॉल के 14 पॉइंट, 7 असिस्ट और 6 टर्नओवर के मुक़ाबले उन्होंने 20 पॉइंट, 9 असिस्ट और एक टर्नओवर दर्ज कराया था।  

NBA में शामिल होने के बाद से ही, ड्राफ्ट के ओवरऑल नंबर 2 सेलेक्शन बॉल, चोट के कारण, किंग्स और लेकर्स के समर लीग और प्री सीजन मुक़ाबलों से अलग-थलग रहे हैं। यह भी एक कारण है कि दोनों टीमों के पहले प्रोफेशनल मैच का इंतज़ार बड़ी बेसब्री से किया जा रहा है।   

फॉक्स, बॉल के खेल कौशल से अपरिचित नहीं हैं। उनका पहला मुक़ाबला AAU कैंप में जब हुआ था, तब वे दोनों हाई स्कूल के दूसरे वर्ष में थे। उनका यह भी मानना है कि एक ही पोज़ीशन में खेलने के बावजूद उनकी निजी शैली बहुत अलग-अलग है।  

“आप बॉल को 30 पॉइंट स्कोर करने से नहीं रोकते, आप सिर्फ उन्हें बेआराम करने की कोशिश करते हैं ताकि वे अपने टीम-मेट्स की ज़्यादा मदद न कर सकें," फॉक्स कहते हैं। “उन्हें रोकने में सबसे मुश्किल काम यही है - वे दूसरों को प्रेरित करते हैं। 

बॉल – जिनकी पासिंग और कोर्ट विज़न की वजह से उनकी तुलना दस बार के ऑल-स्टार जेसन किड से की जाती है - ने प्रति गेम असिस्ट औसत (7.1) के आधार पर सारे नए खिलाड़ियों में दूसरा रैंक अर्जित किया है और अपना पहला सीजन खेल रहे खिलाड़ियों में से अनेक ट्रिपल-डबल दर्ज कराने वाले भी वे मात्र दूसरे खिलाड़ी हैं।

फॉक्स भला पीछे कैसे रहते - बिजली की तरह फुर्तीले इस खिलाड़ी का खेल विज़ार्ड्स के सुपर स्टार जॉन वॉल की याद दिलाता है - उन्होंने 9 नवंबर को फ़िलेडैल्फ़िया के ख़िलाफ़ 15 फुट का जम्प शॉट अभी से अपने NBA खाते में दर्ज करा दिया है। एलियाज़ स्पोर्ट्स (Elias Sports) के अनुसार 19 वर्षीय फॉक्स, पिछले पाँच वर्षों में सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए हैं जिसने चौथे क्वार्टर या ओवरटाइम के अंतिम 30 मिनट में गेम जिताने वाला फील्ड गोल  लगाया। 

“जब भी हमें शॉट की ज़रूरत होती है, मुझे लगता है कि मैं अपने लिए या दूसरों के लिए भी ये मौक़ा ला सकता हूँ," फॉक्स कहते हैं। अगर हमें ऐसे शॉट की ज़रूरत है तो मैं आराम से लगा सकता हूँ, लेकिन किसी और खिलाड़ी को तैयार देखता हूँ तो उसे पास कर देता हूँ।" 

ट्रांज़िशन और हाफ-कोर्ट सेटिंग्स, दोनों ही में अपनी बेजोड़ गति का इस्तेमाल करते हुए, नंबर 5 - जिन्हें हाल में पॉइंट गार्ड बॉल ने अब तक का सबसे तेज़ खिलाड़ी बताया - उन महत्त्वपूर्ण ठिकानों को पहचान लेते हैं, जिनका इस्तेमाल वे अपने प्रतिभाशाली विरोधी को मात देने के लिए करने वाले हैं।     

“मैं उन पर वैसे ही हमला करूंगा जैसे सब पर करता हूँ," फॉक्स कहते हैं। “मुझे लगता है मैं औरों से तेज़ हूँ ... मैं जानता हूँ कि मुझे बेहतर ढंग से शूट करना चाहिए लेकिन यह भी तय है कि विरोधी मेरे पास नहीं पहुँच सकते। अगर वे मेरे पास आने की कोशिश करते हैं तो वह मूर्खता होगी।" 

जहाँ दोनों गार्ड, हर गेम के साथ लीग से परिचित होते जा रहे हैं, फॉक्स का मानना है कि करियर के शुरूआती दौर में अलग भूमिका निभाने से उन्हें फायदा मिलेगा। हालाँकि फॉक्स ने कुल खेले गए मिनटों (26.6 प्रति गेम) में टीम का नेतृत्व किया लेकिन अपने पहले 14 गेम्स में से 2 को छोड़कर सभी में वे जॉर्ज हिल के बैक-अप रहे, जबकि लेकर्स स्टैंडआउट बॉल पहले दिन से ही स्टार्टिंग लाइन-अप में शामिल रहे। 

"मुझे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता कि मैं स्टार्ट करून या नहीं, लेकिन बेंच पर बैठने का फायदा यह है कि आप देखते रहते हैं कि गेम कैसा जा रहा है, क्या हो रहा है, टीम की असली ज़रूरत क्या है, और फिर आप कोर्ट पर जाकर वैसा ही करने की कोशिश करते हैं," पिछले तीन बार से हिल के साथ स्टार्ट करने वाले फॉक्स कहते हैं। 

“NBA में आना ही मुश्किल होता है, लेकिन शुरू के दो-चार गेम्स के बाद - फील्ड में जाने और खेलने से अब सब कुछ आसान हो रहा है। मेरी तेज़ी कम हुई है और मैं बेहतर तालमेल कर पा रहा हूँ।"

ह्यूस्टन टेक्सस निवासी फॉक्स का ध्यान हालाँकि निजी आंकड़ों या तारीफ़ों पर नहीं है लेकिन उनकी निगाहें न सिर्फ बॉल पर बल्कि हर पॉइंट गार्ड पर रहती हैं, क्योंकि इस बार के ड्राफ्ट में इस पोजीशन के लिए कई संभावित स्टार चुने गए हैं। 

“वैसे भी मैं बहुत बास्केटबॉल देखता हूँ, इसलिए उन सभी पर नज़र रखता हूँ," वे कहते हैं। “इसमें कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन कोर्ट में जाकर सिर्फ खेल पर ध्यान होता है।" 

इस सीजन में, पहले साल खेल रहे खिलाडियों में फॉक्स, उन पाँच में से एक हैं, जो स्कोरिंग और असिस्ट, दोनों में टॉप-टेन में आते हैं। NBA.com के अनुसार उन्होंने न सिर्फ स्कोरिंग में बॉल (36.8) के मुक़ाबले बेहतर प्रदर्शन (46.1 वास्तविक शूटिंग प्रतिशत) किया है, बल्कि उनसे बेहतर असिस्ट दर (28.5 बनाम 28.1) भी दर्ज कराई है।  

भले ही अभी वे न मानें कि उनके बीच कोई प्रतिद्वंद्विता है, लेकिन यह तो मानना ही पड़ेगा कि अपने पूरे NBA करियर के दौरान फॉक्स और बॉल आमने सामने रहेंगे और एक ही राज्य तथा डिवीज़न में खेलने के कारण अगले कई वर्षों तक उनके खेल पर सबकी निगाहें टिकी रहेंगी। 

लेकिन अब जब 2017-18 में किंग्स और लेकर्स के चार रेगुलर सीजन मुक़ाबलों में से पहले बहु-प्रतीक्षित मुक़ाबले की तारीख़ तय हो चुकी है - सैक्रामेंटो खिलाड़ी आपसी स्पर्धा को किनारे कर बड़े कैन्वस पर ध्यान दे रहे हैं। 

“मैं बस इस पल में जी रहा हूँ" उनका कहना है। “समय कितनी तेज़ी से बीत जाता है। मुझे अब भी अपना पहला हाई स्कूल गेम याद आता है! समय बीत रहा है, लेकिन मैं उसका मज़ा ले रहा हूँ और यही उम्मीद करता हूँ कि मैं जितना हो सके जीतकर दिखाऊँ।"

Tags

Related Content