ऑल-स्टार की दौड़ में फ़ॉक्स और हील्ड

प्रमुखता की दौड़ में सैक्रामेंटो की वापसी में ज़बरदस्त योगदान देने वाले किंग्स के दोनों गार्ड्स, मिड-सीजन क्लासिक में भी प्रमुख स्थानों के दावेदार हैं।

NBA हल्कों में "ऑल-स्टार के भावी दावेदार" विशेषण अक्सर सुनायी देता रहता है - अच्छा प्रदर्शन करने वाले दर्जनों युवा खिलाड़ियों को इससे नवाज़ा जाता है - लेकिन वेस्टर्न कांफ्रेंस प्ले-ऑफ़ के मैदान में आश्चर्यजनक मज़बूती से जमे सैक्रामेंटो किंग्स को देखते हुए यह ज़रूरी हो गया है कि इस अप्रत्याशित बढ़त के लिए मुख्य रूप से ज़िम्मेदार बैककोर्ट जोड़ी को समुचित सम्मान दिया जाये।

NBA में क्रमशः अपना दूसरा और तीसरा सीजन खेल रहे डी आरोन फ़ॉक्स और बडी हील्ड, NBA के इतिहास में अपनी कमी को स्तरीय खेल से पूरा करते हैं, जो उनके निकट प्रतिद्वद्वियों से किसी तरह कम नहीं है। और अब जबकि टीम का-.500 से अधिक का रिकॉर्ड उसमें बाधक नहीं, तब कोई कारण नहीं कि इन दोनों में से किसी खिलाड़ी को ऑल-स्टार की दौड़ से बाहर रखा जाये।

पश्चिमी तट के प्रतिस्पर्द्धियों के कौशल को देखते हुए गार्ड्स के रोटेशन में आगे निकल पाना ज़रूर टेढ़ी खीर है। जिन खिलाड़ियों के चुने जाने की उम्मीद है, उनमें तीन हाल के MVP विजेता हैं - स्टीफन करी (वारियर्स), जेम्स हार्डन (रॉकेट्स) और रसल वेस्टब्रुक (थंडर) - और साथ में पोस्ट-सीजन दावेदार जैसेकि डेमियन लिलार्ड (ट्रेल ब्लेज़र्स) और डे मार डे रॉज़न (स्पर्स)।

लेकिन टीम में अब भी कुछ स्थान ख़ाली हैं, जिनके लिए नंबर 5 और 24 ने भी अपनी मज़बूत दावेदारी पेश की है ताकि वे भी मिच रिचमॉन्ड, क्रिस वेबर, डी मार्कस कज़िन्स, पेहा स्तोयाकोविच, ब्रैड मिलर और व्लादे डिवाक के साथ सैक्रामेंटो के ऑल-स्टार के रूप में प्रतिष्ठित हो सकें।

फ़ॉक्स ने छुईं नयी ऊँचाइयाँ

जिस किसी ने भी इस सीजन में किंग्स का खेल देखा है - या सोशल मीडिया पर उसकी पाँच सेकंड की हाइलाइट्स देखी हैं -उसके लिए यह समझना क़तई मुश्किल नहीं कि फ़ॉक्स किस तरह सैक्रामेंटो के उच्च-शक्ति आक्रमण की धुरी बने और उसे उल्लेखनीय सफलता दिलायी।

अगर आँखों पर भरोसा नहीं, तो देखिये किस तरह नंबर 5 को NBA.com के अनुसार, औसत गति (4.48) के साथ ऊँची सोपान पर रखा गया है। उन्होंने लगातार फास्टब्रेक के अवसर बनाये, डिफेंसिव रिबाउंड रोके और बास्केट बनाने के फ़ौरन बाद फिर स्कोर करने के तरीके निकाले। कुल मिलाकर फ़ॉक्स पॉइंट्स ऑफ टर्नओवर (203) में दूसरे और फास्टब्रेक पॉइंट्स (199) में तीसरे स्थान पर हैं।

उनकी ग़ज़ब की फुर्ती, पहले से बेहतर जम्प शॉट और आक्रमण पर कब्ज़ा जमाये रखने की क्षमता ने केंटकी मूल के इस खिलाड़ी को कहाँ से कहाँ पहुँचा दिया है। 2017 में वे राइजिंग स्टार गेम में अपनी जगह बनाने में नाकाम रहे थे लेकिन अपने दूसरे साल में उन्होंने ज़बरदस्त छलाँग लगायी है।

6 फुट 3 इंच के गार्ड का सैक्रामेंटो की सफलता में कितना हाथ रहा है? NBA.com के अनुसार जब वे कोर्ट में हों, तब टीम ने 1388 मिनट में विरोधियों को 59 पॉइंट्ससे पछाड़ा है और जब कभी वे कोर्ट में नहीं थे तब विरोधियों ने सैक्रामेंटो को 729 मिनट में 92 पॉइंट्स से शिकस्त दी है। फ़ॉक्स की 7.7 नेट ऑन-ऑफ कोर्ट रेटिंग – जो टीम में उनके शामिल होने या न होने, दोनों ही स्थितियों में टीम के प्रति 100 पज़ेशन पॉइंट डिफरेंशियल का आकलन है - उन्हें वेस्टब्रुक (8.8) और हार्डन (4.1)के बराबर ला खड़ा करती है।

सभी मान्यताप्राप्त वेस्ट पॉइंट गार्ड्स के बीच, करी और हार्डन के साथ सिर्फ़ फ़ॉक्स ही ऐसे खिलाड़ी हैं जो पॉइंट (17.9 प्रति गेम), असिस्ट (7.3), स्टील  (1.8), फ़ील्ड गोल प्रतिशत (47.1) और थ्री-पॉइंट एक्युरेसी (37.6 प्रतिशत) के आधार पर टॉप टेन में पहुँचे हैं। उनका असिस्ट को टर्नओवर में बदलने का औसत पाँचवा सबसे अधिक है और उनकी यूसेज दर 20 से अधिक है।

सभी मान्यताप्राप्त वेस्ट पॉइंट गार्ड्स के बीच, करी और हार्डन के साथ सिर्फ़ फ़ॉक्स ही ऐसे खिलाड़ी हैं जो पॉइंट (17.9 प्रति गेम), असिस्ट (7.3), स्टील  (1.8), फ़ील्ड गोल प्रतिशत (47.1) और थ्री-पॉइंट एक्युरेसी (37.6 प्रतिशत) के आधार पर टॉप टेन में पहुँचे हैं। उनका असिस्ट को टर्नओवर में बदलने का औसत पाँचवा सबसे अधिक है और उनकी यूसेज दर 20 से अधिक है।

basketball-reference.com के अनुसार, पूरी लीग में फ़ॉक्स उन सात खिलाड़ियों में से एक हैं, जो इस समय 17 पॉइंट्स और 7 असिस्ट प्रति गेम से अधिक का औसत निकाल रहे हैं और वह भी मात्र 21 साल की उम्र में, जो इस सूची के किसी भी गार्ड से सात वर्ष कम है। किंग्स के इतिहास में, "स्वीपा" उस कारनामे को अंजाम देने जा रहे हैं, जो केनी स्मिथ ने तीस वर्ष पहले कर दिखाया था।

11 नवम्बर 2018 को फ़ॉक्स, कम से कम 30 पॉइंट (31), 15 असिस्ट और 10 रिबाउंड के साथ ट्रिपल-डबल दर्ज कराने वाले सबसे कम-उम्र खिलाड़ी बन गये। पिछले दशक में केवल आठ खिलाड़ियों के आँकड़े इससे मिलते-जुलते हैं। 2018-2019 में उनके नौ डबल-डबल्स भी वेस्ट गार्ड्स के बीच चौथे सबसे अधिक हैं।

NBA.com के अनुसार रुकी के तौर पर, अपने आपको सबसे बेहतरीन क्लच खिलाड़ियों में से एक साबित करने के बाद लुइसिआना निवासी फ़ॉक्स ने आगे का सफर जारी रखा और गेम के अंतिम क्षणों में (जब खेल के पांच मिनट बाकी हों और स्कोर पांच पॉइंट के भीतर हो) 50 प्रतिशत कनेक्ट करने में सफल रहे। साथ ही उन्होंने किंग्स को अंतिम क्षणों में 53 पॉइंट और 11 असिस्ट दिलवाये।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सैक्रामेंटो ड्राफ़्टी ने ऐसी परिस्थितियों में टीम का 15-9 का रिकॉर्ड बनाया, जिसके फलस्वरूप वह
 वेस्ट के दूसरे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बन गए हैं। अब केवल टॉप-सीडेड नगेट के जमाल मरे उनसे आगे हैं।

इस महीने करियर का सौंवाँ NBA गेम खेल रहे खिलाड़ी के लिए यह उपलब्धि कुछ कम तो नहीं।

उत्कृष्ट टू-गार्ड्स में शामिल हैं बडी

ऑल-स्टार की हील्ड की दावेदारी उनके अद्वितीय खेल-कौशल और रिबाउंडर तथा प्लेमेकर के रूप में उनके बेहतरीन योगदान पर निर्भर है। NBA के निष्ठावान प्रशंसक पहले से ही बहामास निवासी हील्ड की प्रतिभा से परिचित हैं, जिन लोगों को टॉप शूटिंग गार्ड के रूप में उनके प्रदर्शन पर कुछ संदेह है, उनका संदेह ऑल-स्टार गेम दूर कर देंगे।

इस सीजन में 20 पॉइंट प्रति गेम से अधिक का औसत निकालने वाले 18 गार्ड्स में, वे सबसे अधिक प्रभावशाली स्कोर करने वालों में से एक के रूप में उभरे हैं। हील्ड ने अपने फील्ड-गोल प्रतिशत (तीसरे), थ्री-पॉइंट शूटिंग (दूसरे), ट्रू-शूटिंग प्रतिशत (तीसरे) और फ्री-थ्रो एक्यूरेसी (पाँचवें) के आधार पर टॉप-फाइव में जगह बनायी है।

इससे भी ज़्यादा महत्वपूर्ण बात यह है कि 26 वर्षीय हील्ड, ऑलस्टार हार्डन, लिलार्ड और ब्रैडली बील (विज़ार्ड्स) सहित अपने वर्ग के उन चार खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्होंने 800 पॉइंट, 200 रिबाउंड और 100 ट्रिपल से अधिक की टैली बनायी है। basketball-reference.com के अनुसार उन्होंने 22  गेम्स में 20 से अधिक पॉइंट बनाये और तीन में ट्रिपल लगाये हैं, जिसकी वजह से वे अब केवल हार्डन (34) और करी (25) से पीछे हैं।

हील्ड ने पिछले महीने दो बार 30 पॉइंट का कारनामा कर दिखाया। उन्होंने 19 दिसंबर 2018 को थंडर के विरुद्ध 37 पॉइंट बनाये और 5 जनवरी 2019 को वर्तमान चैंपियन के विरुद्ध काँटे की टक्कर में करियर के श्रेष्ठतम आठ थ्री-पॉइंटर लगाते हुए 32 पॉइंट जोड़े।

नंबर 24 के कोर्ट में रहते, सैक्रामेंटो का हाई-स्कोरिंग आक्रमण 2.6 पॉइंट प्रति सौ पज़ेशन बेहतर रहा है - NBA.com के अनुसार जब वे कोर्ट में थे तब 108.1 पॉइंट बने और जब नहीं थे तब 105.5 पॉइंट जोड़े गये। ESPN.com का कहना है कि टीम के लिए अपना महत्त्व बढ़ाते हुए, ओकलाहोमा निवासी ने वेस्ट गार्ड्स के बीच, आक्रामक रियल प्लस-माइनस (1.42) में छठाँ स्थान प्राप्त किया है और साथ ही, सबसे अधिक जीत (2.39) दिलाने वाले छठवें गार्ड भी बने हैं।

थ्री-पॉइंट प्रतियोगिता में जाना पक्का?

हील्ड को अगर ऑल-स्टार गेम में प्रवेश नहीं मिलता, तो भी अगले महीने शार्लोट, एन. सी. में उनका पहुँचना लगभग पक्का है। हील्ड को अगर ऑल-स्टार गेम में प्रवेश नहीं मिलता, तो भी अगले महीने शार्लोट, एन. सी. में उनका पहुँचना लगभग पक्का है। पिछले सीजन में, धमाकेदार आंकड़ों के साथ, सबसे योग्य उम्मीदवारों में से एक – "बडी बकेट्स" थ्री-पॉइंट प्रतियोगिता में पहुँचने से चूक गए थे - इस बार अपनी लॉन्ग-रेंज शूटिंग को नये स्तर तक ले जाने के बाद उनके चूकने की कोई आशंका नहीं है।

इस वर्ष हील्ड का थ्री-पॉइंट शॉट्स का चार्ट बेहद हसीन है। वे चाहे 'टॉप ऑफ़ द की' से शॉट ले रहे हों (44 प्रतिशत) या राइट कॉर्नर से (56.3), नंबर 24 कोर्ट के हर कोने से लीग के औसत से लगभग 10 पॉइंट ज़्यादा स्कोर करते हैं।

न सिर्फ़ वे कुल थ्री-पॉइंटर्स (143) बनाने में तीसरे स्थान पर हैं, बल्कि जिन 53 खिलाड़ियों ने आर्क के पीछे से कम से कम 200 शॉट लगाने की कोशिश की है, उनमें भी केवल दो ही उनसे अधिक सफल रहे हैं। अपने पिछले 15 गेम्स में, वे 129 कोशिशों में से 61 (47.3 प्रतिशत) में सफल रहे हैं, जो कि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी से लगभग चार परसेंटेज पॉइंट अधिक है।

सैक्रामेंटो के इस खिलाड़ी ने लगातार डिफ़ेंस की भूलों का फायदा उठाया है और लीग में सबसे अधिक 197 वाइड-ओपन लुक्स में से 50.8 प्रतिशत (NBA.com के अनुसार जब कोई डिफ़ेंडर छह फुट के दायरे में न हो) में सफलता हासिल की है। यह शार्पशूटर करी (50.0), लिलार्ड (46.4) और उटाह के काइल कोवर (42.6) से आगे है।

इसी तरह, कैच एंड शूट अवसरों में - जिसने उन्हें लम्बी दूरी के फील्ड गोलों में से एक तिहाई दिलाये हैं - हील्ड 47.4 प्रतिशत की दर से शॉट लगाते हैं, जो कम से कम सौ कोशिशों वाले खिलाड़ियों में चौथा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। अपने आउटसाइड स्ट्रोक के बारे में आत्मविश्वास से भरे हील्ड, डिफेंडर के ज़रा सा मौक़ा देते ही टूट  पड़ते हैं और तेज़ी से पीछे कूदकरजगह बनाते हैं।

5 जनवरी के गेम्स में, हील्ड ने 62 में से 33 शॉट (53.2) लगाये। अगर वे ऐसी ही तेज़ी बरक़रार रखते हैं तो किंग्स के चौथे - बल्कि 2003-2004 में पेहा स्तोयाकोविच के बाद से पहले - ऐसे खिलाड़ी बन जायेंगे, जिसे शनिवार के ऑल-स्टार मुक़ाबले के लिए चुना गया हो।

“अगर यह अभी नहीं हुआ है, तो मेरे करियर में कभी तो होगा," हील्ड ने पिछले साल कहा था। “आप वहाँ जीतने के लिए ही तो जाते हैं न? मैं हारने के लिए नहीं जा रहा हूँ।"

Tags

Related Content


NEXT UP:

  • Facebook
  • Twitter