वैस्क्वेज़: ’मुझे किसी का डर नही’

वैस्क्वेज़: ’मुझे किसी का डर नही’

ग्रेविस वैस्क्वेज़ के शब्दकोश में 'डर' नामक कोई शब्द नहीं!

वैस्क्वेज़ कहता है: "मुझे किसी का डर नहीं – क्रिस पॉल या रसेल वेस्टब्रुक का भी नहीं – क्योंकि जब मैं युवा था तो मुझपर बहुत कुछ बीता था।" "जब मैं उससे नहीं डरा तो इनसे क्यों डरूंगा? मुझे वाकई यकीन है कि मैं श्रेष्ठतम से भी प्रतिस्पर्द्धा कर सकता हूं"।

कैराकास (वेनेजुएला) में पलते-बढ़ते हुए, किंग्स गार्ड को स्थानीय क्रीड़ा-क्षेत्रों में बेहतरीन प्रतियोगिता में अपनी जगह बनाने के लिए अक्सर गुंडों-मवालियों और जेबकतरों से भरी गलियों से होकर गुजरना पड़ता था।

वह याद करता है, "मैं बाहर खेला करता था। बाहर जाकर कठिन क्षेत्रों में खेलना मेरे अन्दर की एक प्रेरणा थी।"

"मुझे अभी भी याद है कि जब मैं छोटा था तो कैसे वेनेजुएला में खेला करता था। तभी तो, मैं अपनी जड़ों को कभी नहीं भूलता, क्योंकि अभी मैं जिस मुकाम पर हूँ वहाँ तक पहुँचने में मुझे इसीसे मदद मिली है।"

बचपन में बेसबॉल पर हाथ आजमाने के बाद, वैस्क्वेज़ बहुत ही जल्द इस खेल की धीमी रफ़्तार से ऊब गया। जब उसने कोकोड्राइलोज डि कैराकास नामक स्थानीय प्रोफेशनल टीम को खेलते देखा तो उसी क्षण उसके मन में बास्केटबॉल के प्रति एक गहरी रुचि पैदा हो गई।

वैस्क्वेज़ का कहना है कि "जब मैं 11 साल का था तो मेरे डैड मुझे बास्केटबॉल के खेलों में ले जाने लगे और (मुझे लगता था) – 'यही मेरे लिए है – मैं बास्केटबॉल खिलाड़ी बनना चाहता हूँ। जब मैं बेसबॉल खेलता था तो मैं छोटे-छोटे लीगों में सेंटरफील्ड में शामिल रहा करता था और उस जगह कोई 'हिट' ही नहीं करता था। तो मुझे ऐसा लगता था कि 'अरे, नहीं, यह तो बड़ी बोरियत भरा है'।"

एकबार उसने अपने पिता को इस बात के लिए मना लिया कि वे उसे एक स्थानीय टीम में शामिल होने दें। वैस्क्वेज़ 10 बार ऑल-स्टार रह चुके जैसन किड की स्लिक-पासिंग का बड़ा दीवाना था, और अब वह अपनी स्वतंत्र कुशलताओं के विकास में जुट गया।

उसका कहना है कि "जब मैं छोटा था, तभी से मैंने अपना विकास किया। यह एक तरह से मेरी हॉबी थी और बाद में यह मेरा प्यार बन गया।"

6-फुट-6 के इस गार्ड को बड़ी तेजी से अंतर्राष्ट्रीय प्रसिद्धि वाला परिदृश्य भी मिल गया जब वह दक्षिण अमेरिका में एक NBA कैम्प में अनेक कॉलेजिएट कोचों की नजरों में चढ़ गया। 2004 में, वैस्क्वेज़ अपनी शिक्षा जारी रखने और रॉकविले, एम.डी., के मौंटरोज क्रिश्चियन स्कूल में बास्केटबॉल का करिअर शुरू करने अमेरिका चला आया।

अत्यंत स्फूर्तिकारी फ्लोर जनरल ने मुस्टांग्स को उसके अंतिम दो सीज़न्स में 43-5 के रिकॉर्ड तक पहुँचने में मदद दी – एक सीनियर के तौर पर 15.2 प्वाइंट्स, 7.4 रीबाउंड्स, 5.9 असिस्ट्स और 2.4 स्टील्स प्रति खेल का औसत बनाते हुए। और इस प्रकार उसने मैरीलैंड युनिवर्सिटी के लिए फुल स्कॉलरशिप प्राप्त कर लिया।

एक युवा करिअर की कठोरतम प्रतिस्पर्द्धाओं से गुजरते हुए भी, बॉब कूज़ी एवार्ड हासिल करने के यात्रा-क्रम में वैस्क्वेज़ एकबार पुन: राष्ट्रीय मंच पर उभरा -- एक सीनियर के तौर पर 19.6 प्वाइंट्स, 6.3 असिस्ट्स और 1.7 स्टील्स प्रति खेल का औसत बनाते हुए। साथ ही उसे 'एसीसी प्लेयर ऑफ दि इयर' और 'कन्सेंसस ऑल अमेरिका सेकेंड टीम ऑनर्स' का खिताब भी मिला।

वह सच कहता है कि "मैं कॉलेज में कभी डरा नहीं। घर पर (मैंने जो कुछ देखा उसकी तुलना में) 'ड्यूक' में खेलना कुछ भी नहीं।"

टेरापिन्स की तैयारी करते हुए, वेनेजुएला का यह निवासी अत्यंत उग्रता और अगाध भाव-प्रवणता के साथ खेलने वाले एक खिलाड़ी के रूप में मशहूर हो गया और उसकी यह भावना उसकी टीम के सहयोगियों को भी प्रोत्साहित करने लगी। सैक्रामेंटो में भी वह इसी उत्कट भावना को वापस लाना चाहता है।

वैस्क्वेज़, जिसे मेम्फिस के 2010 ड्राफ्ट में 28वाँ ओवरऑल चुना गया और जिसने अपने विगत दो सीज़न्स न्यू ऑरलियन्स के साथ बिताए हैं, कहता है: "मुझे लगता है मैं उसे वापस पा लूँगा – मुझे लगता है कि यहाँ मैं एकबार फिर अपने असली रूप में आने वाला हूँ।"

"(अपनी पिछली टीमों में), मैं 100 प्रतिशत वह नहीं था जो मैं हूँ – अपनी भाव-प्रवणता झलकाने वाला खिलाड़ी, अपनी तरह से खेलने वाला मैं ... इसीलिए मैं यहाँ खेलने को उत्सुक हूँ और यहाँ लंबे समय तक बने रहना चाहता हूँ क्योंकि मैं फिर से वही भाव-प्रवणता झलकाने जा रहा हूँ – यह कि मुझे इस खेल से कितना प्यार है, मुझे जीत हासिल करने की कितनी ललक है।"

खेल के एक एलिट प्वाइंट गार्ड के रूप में उभरकर, अपने अदम्य आत्म-विश्वास के बल पर, स्वोर्क प्रजाति का यह 26 वर्षीय खिलाड़ी NBA का सितारा बन गया है।

2012-13 में एक फुलटाइम स्टार्टर के रूप में अपने पहले सीज़न में वैस्क्वेज़ ने प्राय: सभी सांख्यिकीय श्रेणियों में अपने करिअर के उच्चतम रिकॉर्ड कायम किए, जिनमें शामिल हैं प्वाइंट्स (प्रति गेम 13.9), असिस्ट्स (9.0 – NBA में तीसरा) और रीबाउंड्स (4.3) और 'वर्ष के सबसे बेहतर खिलाड़ी' की वोटिंग में वह दूसरे स्थान पर आया।

"मैं (पेलिकन्स हेड) कोच (मौंटी) विलियम्स का शुक्रिया अदा करता हूँ कि उसने मुझे खेल के प्रदर्शन का मौका दिया, लेकिन ऐसे अवसर पाने पर ज्यादातर आपको तैयार रहना पड़ता है।" वह कहता है: "मैं तैयार था, मैंने अवसर का लाभ उठाया और उस समय के मेरे टीम-सहयोगियों ने भी मेरा साथ दिया। यह जान लेना मेरे लिए काफी अच्छा रहा कि मैं इस लीग में खेल सकता हूँ और मैं सर्वोत्तम के खिलाफ खेल सकता हूँ।"

अंतिम सीज़न में कुल असिस्ट्स (704), असिस्ट्स प्रतिशत में दूसरे स्थान (44.9) और असिस्ट्स-टु-टर्न ओवर अनुपात (2.85) में नवें स्थान के साथ, लीग में यह उत्कृष्ट खिलाड़ी प्रथम स्थान पर रहा। 8 फरवरी को वैस्क्वेज़ ने अपने करिअर का पहला ट्रिपल-डबल हासिल किया जिसमें उसने सबको हैरत में डालते हुए 21-प्वाइंट, 12-असिस्ट और 11-रिबाउंड का कार्य-प्रदर्शन किया।

उसका कहना है कि "(यह) साल मेरे लिए शानदार रहेगा जबकि मैं पूरे लीग को दोबारा यह दिखा सकूँगा कि पिछले सीज़न में मैंने जो कुछ किया वह महज संयोग नहीं था – मैं बेहतर, और बेहतर कर सकता हूँ। लेकिन इसके लिए समय और मेहनत की जरूरत होती है।"

किंग्स के जनरल मैनेजर पेटे डी'अलेसैंड्रो, हेड कोच माइकल मैलोन और सैक्रामेंटो के स्काउटिंग स्टाफ विरोधी गार्ड्स को हतप्रभ करने के लिए अपनी कद-काठी को भुनाने में और ओपन टीम-मेट्स को तलाशने की दृष्टि से कोर्ट पर चौकन्ना नजर डालने में गार्ड की क्षमता के अत्यंत प्रशंसक रहे हैं।

डी'अलेसैंड्रों का कहना है कि "उसकी कुशलताएँ उसकी खूबी हैं, लेकिन मुझे लगता है कि इससे भी बढ़कर (जब) हम टीम का हुलिया बदलने और कोच को उसकी शैली का खेल प्रस्तुत करने में मदद देने की बात करते हैं तो हमलोग अपनी टीम में ऐसे लोगों को पसन्द करते हैं जिनके खिलाफ कोई खिलाड़ी खेलना न चाहे।" उसका यह भी कहना है कि "ग्रेविस एक ऐसी किस्म का खिलाड़ी है जो इतनी भाव-प्रवणता से खेलता है कि उसके बारे में मैं कह सकता हूँ कि अन्य टीमें उसका मुकाबला करना नहीं चाहतीं – और मुझे यह पता है क्योंकि मैं अन्य टीमों में रह चुका हूँ।"

गार्ड को वेनेजुएला की राष्ट्रीय टीम में खेलते हुए देखते समय उसकी दृढ़ता से प्रभावित होकर मैलोन यह स्वीकार करता है कि "मैं हमेशा ग्रेविस का बड़ा दीवाना रहा हूँ।"

हेड कोच का कहना है कि "वह चाहे जिसके साथ भी खेल रहा हो, वह उन्हें एक बेहतर खिलाड़ी बना देता है, और यह एक महान खिलाड़ी की निशानी है – एक ऐसा इन्सान जो अपनी टीम के सभी सहयोगियों को बेहतर बना सकता हो (और) उन्हें सफलता के कगार पर खड़ा कर दे। ग्रेविस हमारे लिए ऐसा ही करेगा और मुझे लगता है वह जैसी परम्परा डालता है उस तरह के बास्केटबॉल का असर सब ओर फैल जाता है। जब बॉल चालू होता है तो फिर श्रेय किसको मिलता है इसकी फिक्र किसी को नहीं रहती – महान शॉट्स के लिए आप शानदार शॉट्स देते हैं, और ग्रेविस पहले ही दिन से हमें अपनी रफ़्तार में ला देगा।"

वैस्क्वेज़ – जिसने लीग के आखिरी सीज़न (30) में 10 या इससे ज्यादा असिस्ट्स के साथ दूसरे स्थान के शानदार गेम्स के कीर्तिमान स्थापित किए – अब सैक्रामेंटो में ज्यादा उत्कृष्ट लीडरशिप कायम करने के लिए तैयार है।

वह कहता है: "लीडर उस शख्स को कहते हैं जो तब भी सही काम करता है जबकि कोई उसे देख न रहा हो। अब मैं एक ऐसी टीम में हूँ (जिसमें) वे चाहते हैं कि मैं एक लीडर की भूमिका निभाऊँ, और मैं वही हूँ – मैं सहज रूप से एक लीडर हूँ। मैं अपने आदर्श द्वारा नेतृत्व कर सकता हूँ, किसी से बात करके (और) अपने इर्द-गिर्द के सब लोगों को बेहतर बनाकर।"

ग्रिजलीज़ के साथ एक नए खिलाड़ी के रूप में पोस्ट-सीज़न प्रतिस्पर्द्धा का आस्वाद लेने के बाद – मुख्य गेम 6 में 2011 प्ले-ऑफ्स के ओपनिंग राउंड में 11 प्वाइंट्स के साथ Spurs पर विजय हासिल करते हुए – अब इस फोर्थ-इयर गार्ड का कहना है कि किंग्स को पोस्ट-सीजन प्रतिस्पर्द्धा में वापस लाने के लिए वह जो भी संभव होगा, करेगा।

वह कहता है: "हम अपने आस-पास का परिदृश्य बदल डालना चाहते हैं, हम प्ले-ऑफ्स में आना चाहते हैं, हम एक अलग किस्म की संस्कृति में ढलना चाहते हैं – जीत हासिल करने की संस्कृति में। हमें जीत हासिल करना सीखना होगा, और यह आप अभ्यास करके ही सीख पाते हैं, खूब मेहनत करके, और यह सोच-समझकर कि आपको अपना भरपूर प्रदर्शन करना है – अपनी भूमिका के दायरे में रहकर खेलना है। मैं यहाँ 40 प्वाइंट और (यह) 38 असिस्ट्स अर्जित करने नहीं आया। मैं यहाँ एक लीडर बनने आया हूँ और अपनी टीम को विजय पाने में सहायता देने।"

वैस्क्वेज़ ने सही कहा है, वह चुनौतियों से नहीं डरता।

फ्री थ्रोज़

- मैरीलैंड में अपने सीनियर इयर में वापस लौटने से पहले, वैस्क्वेज़ ने जून 2009 में एक किंग्स के साथ प्री-ड्राफ्ट वर्क-आउट के साथ भागीदारी निभाई।

पुराने दिन याद करते हुए वह कहता है: "जब मैं कॉलेज में एक जूनियर था तब, मुझे अपना पहला NBA याद है – जब मैं पहली बार (सैक्रामेंटो) आया था। यह मेरा पहला मौका था और पूरी प्रक्रिया के दौरान मेरा सर्वोत्तम मौका।

- वैस्क्वेज़ कहता है कि अपने पर्पल एवं ब्लैक निष्ठावान प्रशंसकों की उमड़ती हुई भीड़ देखकर वह भाव-विभोर हो गया था, जो रिवर सिटी तक उसका स्वागत करने आए थे। via Twitter.com/greivisvasquez.

उसका कहना है: "जबसे मैं (यहाँ) आया, अपने प्रशंसकों के बारे में मैंने कई बेहतरीन बातें सुनींI हमारे प्रशंसक बहुत खुश हुए – अविश्वसनीय स्वागत हुआ।"