किंग्‍स ने सेंटर सिम भुल्‍लर को साइन किया

एनबीए में अनुबंधित होने वाले भारतीय मूल के पहले खिलाड़ी बने

सैक्रामेंटो, सीए --- महाप्रबंधक पीट डीएलेस्‍सांद्रो के अनुसार सैक्रामेंटो किंग्‍स ने एक अनुबंध के तहत सेंटर सिम भुल्‍लर को साइन किया है। टीम की नीति के अनुसार, इस सौदे की शर्तों का खुलासा नहीं किया गया है।

टोरंटो, ओंटेरियो में जन्‍मे भुल्‍लर किसी एनबीए टीम के साथ अनुबंध करने वाले भारतीय मूल के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। 7-फुट-5 की लंबाई वाला 360-पाउंड का यह सेंटर खिलाड़ी लास वेगस में 2014 सैमसंग एनबीए समर लीग खिलाब जीतने वाले किंग्‍स दल का एक सदस्‍य था।

न्‍यू मेक्सिको स्‍टेट में अपने दो सत्रों में, एग्‍गीज़ के इस खिलाड़ी का प्रदर्शन 65 कैरियर गेम में औसत 10.2 प्‍वाइंट (.633 FG%, .496 FT%), 7.2 रीबाउंड, 1.0 एसिस्‍ट, 2.9 ब्‍लॉक और 25.3 मिनट प्रति गेम रहा है। भुल्‍लर दो बार वेस्‍टर्न एथ्‍लेटिक कांफ्रेंस टूर्नामेंट एमवीपी (सबसे मूल्‍यवान खिलाड़ी) रह चुके हैं, और उन्‍होंने 2013 और 2014 के एनसीएए टूर्नामेंट में पहुंचने में स्‍कूल की सहायता की थी। एक फ्रेशमैंन के तौर पर, एग्‍गीज़ के लिए उन्‍होंने 10.1 प्‍वाइंट का औसत (.621 FG%, .465 FT%), 6.7 रीबाउंड, 0.7 एसिस्‍ट, 2.4 ब्‍लॉक और 24.4 मिनट प्रति गेम हासिल किया था। उन्‍होंने सर्वाधिक ब्‍लॉक किए गए शॉट के‍ लिए एक सीज़न में स्‍कूल रिकॉर्ड बनाया था जो कि 85 था और उनका .621 का फ़ील्‍ड गोल प्रतिशत एनएमएसयू के एक सीज़न की सूची पर चौथे स्‍थान पर था और 2012-13 में डब्‍ल्‍यूएसी में पहले स्‍थान पर था।

किंग्‍स के मालिक विवेक रणदिवे ने कहा, ''मेरा लंबे समय से विश्‍वास रहा है कि भारत एनबीए का अगला सबसे बड़ा पड़ाव होगा, और सिम जैसे एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी को शामिल करना उस देश में बास्‍केटबॉल के तीव्र विकास को ही रेखांकित करता है। जहां सिम किसी एनबीए फ्रेंचाइज़ी के साथ अनुबंधित होने वाले भारतीय मूल के पहले खिलाड़ी हैं, वहीं वे उन अनेक खिला‍ड़ियों का प्रतिनिधित्‍व करते हैं जो इस खेल पर अधिक से अधिक ध्‍यान दिए जाने और भारतीय प्रशंसकों में लगातार बढ़ते उत्‍साह के साथ इस क्षेत्र से आगे उभरेंगे।''

खेलों की असीमित क्षमता को समझने का अर्थ है विभिन्‍न भौगोलिक, आर्थिक और सांस्‍कृतिक आधारों वाले लोगों के साथ जुड़ना। रणदिवे सैक्रामेंटो किंग्‍स को 21वीं सदी का प्रमुख खेल फ्रेंचाइज़ बनाने पर ध्‍यान केंद्रित कर रहे हैं। नेशनल बास्‍केटबॉल एशोसिएशन (एनबीए) के साथ काम करते हुए, किंग्‍स ने बास्‍केटबॉल को सफलतापूर्वक भारत के सबसे तेज़ी से बढ़ते खेल के रूप में स्‍थापित कर दिया है। पिछले एनबीए 2013-14 सीज़न में, किंग्‍स ने भारत में लगभग 20 लाइव गेमों का प्रसारण किया, हिंदी में एक वेबसाइट की शुरुआत की ताकि विश्‍व के हिंदी भाषी प्रशंसक आधार के साथ जुड़ा जा सके, सैक्रामेंटो किंग्‍स के खिलाड़ियों को नर्तकियों को मुंबई भेजा, और टीम के पहले भारत-स्थित प्रायोजक को साइन किया।