करीबी नज़र: रेग्‍गी ईवांस

एलेक्‍स क्रेमर्स

आइए नजदीक से देखें कि पेंसाकोला, फ़्ला निवासी ने एनबीए के शीर्ष ऑल-राउंडर रीबाउंडरों में कैसे स्‍थान बनाया।

जहां रेग्‍गी ईवांस को लीग के सबसे जुझारू डिफेंडरों और सबसे चीमड़ रीबाउंडरों में से एक माना जाता है, किंग्‍स के इस फॉरवर्ड ने 10-बार एनबीए स्‍कोरिंग चैंपियन रहे खिलाड़ी को अपना आदर्श माना और उसके अनुरूप अपने खेल को ढाला।

ईवांस कहते हैं, जोर देने के‍ लिए आइकोनिक सुपरस्‍टार के नाम के प्रथामाक्षरों को बार-बार दोहराते हुए, ''माइकल जॉर्डन - वह एम.जे. थे। मुझे याद है कि मेरी मां ने मुझे एक काला-और-लाल रंगों वाली बास्‍केटबॉल दी थी और (कैसे) मैं उसके लिए पागल हुआ जा रहा था। यह सब माइकल जॉर्डन का असर था।''

नं. 30 के लिए, अपना स्‍थान बनाना और एनबीए में सफलता का निर्णायक कॉलिंग कार्ड पाना कई सालों से चली आ रही एक प्रक्रिया का हिस्‍सा था जिसमें कई बाधाओं से पार पाना पड़ा था - जिनमें सबसे पहली बाधा थी पेंसाकोला, फ़्ला के हाउसिंग प्रोजेक्‍ट के आस-पास की खतरनाक, नशीले पदार्थों की जकड़ में कैद गलियां, जहां वे बड़े हुए।

ईवांस, जिनकी मां कई काम करती थी और जिनके पिता जेल जा चुके थे, कहते हैं, ''मेरा बचपन कठिनाई में बीता - बहुत अधिक संघर्ष करना पड़ता था - लेकिन मैं उनके बारे में सकारात्‍मक सोच रखता हूं। फिर भी मेरा बचपन आनंददायक था। आसपास का माहौल वास्‍तव में नकारात्‍मक प्रभाव वाला था क्‍योंकि नशीले पदार्थ बहुतायत में पाए जाते थे, लेकिन मेरे परिवेश में बड़ा होने के लिए आपका सख्‍त होना जरूरी था, और ऐसा ही मेरा खेल भी रहा।''

स्‍थानीय खेल के मैदानों पर घमासान पिक-अप गेमों ने इस 6-फुट-8-इंच लंबे फॉरवर्ड को एक दिमागी रूप से मजबूत, जुझारू खिलाड़ी में ढाल दिया जो संपर्क झेल सकता था और बड़े-बड़े विपक्षियों की दीवार के बीच से अपना रास्‍ता बनाते हुए बास्‍केटबॉल को रीबाउंड कर सकता है।

वह कहते हैं, ''जब हम कोर्ट पर बास्‍केटबॉल खेलते थे हमें सख्‍त होना पड़ता था। आपको चोट लगती है, आप फर्श पर गिर जाते हैं - आपको तुरंत अपने पैरों पर खड़ा होना होता है, और खेल शुरू कर देना होता है। चाहे आप कट जाएं या छिल जाएं - इसके बावजूद आपको उठकर खेलने लग जाना होता है। तो यह वास्‍तव में कठोर था।''

हाई स्‍कूल के बाद भर्ती न किए जाने पर, ईवांस ने कैंसास के कॉफीविले कम्‍युनिटी कॉलेज में दाखिला लिया, जहां सोफोमोर के रूप में उनका औसत 22.5 प्‍वाइंट और 11.9 रीबाउंड प्रति स्‍पर्धा रहा और उन्‍होंने आगे चलकर एनजेसीएए ऑल-अमेरिकन आनर्स अर्जित किया। आयोवा विश्‍वविद्यालय में स्‍थानांतरण के बाद, यह लंबा खिलाड़ी डबल-डबल के साथ-साथ सफल और अटेंप्‍टेड फ्री-थ्रो में राष्‍ट्र में शीर्ष पर रहा, और वह लगातार दो बार उन्‍हें एशोसिएटेड प्रेस ऑनरेबल मेंशन ऑल-अमेरिकन बने।

फिर भी 2002 ड्राफ्ट के लिए चयनित 58 खिलाड़ियों का नाम सुनते हुए यह जानकर इस फॉरवर्ड का दिल टूट गया कि प्रत्‍येक एनबीए फ्रेंचाइज़ ने उसकी उपेक्षा कर दी थी।

वह स्‍वीकार करते हैं, ''मैं रो पड़ा। मैं अपनी दादी/नानी के घर से अपने घर तक पैदल चलकर गया - यह एक लंबा रास्‍ता था - और मैं बहुत रोया। जूनियर कॉलेज में आयोवा के अपने प्रदर्शन के आधार पर, मेरा ख्‍याल था कि मुझे ड्राफ्ट किया जाना चाहिए था, लेकिन इसने मुझे मजबूत ही बनाया। मैं रोया, और अगले दिन, मैंने शायद अपने भाई की ट्रक ली और जिम गया - फिर से परिश्रम में लग गया।''

फ़्लोरिडा के इस मूल निवासी की अथक कार्यसंस्‍क्रृति और सतत ऊर्जा की बदौलत उन्‍हें सीएटल सुपरसॉनिक्‍स के एक प्रशिक्षण कैंप के लिए बुलावा आया, जहां तत्‍कालीन मुख्‍य कोच नेट मैकमिलन के साथ एक मूलभूत चर्चा ने उनका नजरिया और उनके कैरियर का पथ बदल दिया।

ईवांस स्‍मरण करते हुए बताते हैं, ''एनबीए में आकर, मैं वहीं करना चाहता था जो मैं कॉलेज में करता था। लेकिन कोच नेट ने कहा कि हमारे पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो बास्‍केटबॉल स्‍कोर कर सकते हैं''।

माइकल जॉर्डन बनने का ख्‍वाब देखने वाले इस खिलाड़ी को डेनिस रॉडमैन की तरह रीबाउंड और प्रतिरक्षा विशेषज्ञ बनने का कार्य सौंपा गया।

ईवांस आगे कहते हैं, ''एक बार उन्‍होंने मुझे बताया कि वे मुझसे क्‍या करवाना चाहते थे, और मैंने कहा, 'ठीक है, मुझे बस इतना ही करना है? तो मैंने उसका पूरा फायदा उठाया, लगभग पूरा।''

2002-03 अभियान से पहले मैकमिलन की चुनौती स्‍वीकार करने के बाद से, ईवांस उन मात्र तीन योग्‍यताधारी खिलाड़ियों में से हैं जिनाक औसत 36 मिनट में 13 रीबाउंड है, जिसमें 20 या अधिक बोर्ड वाले 13 गेम हैं।

12 वर्ष के अनुभव वाले इस वरिष्‍ठ खिलाड़ी का सभी सक्रिय खिलाड़ियों उच्‍चतम कैरियर कुल रीबाउंड प्रतिशत (21.9) है और इस श्रेणी में एनबीए के इतिहास में 5000 मिनट से अधिक का खेल खेलने वाले सभी खिला‍ड़ियों में उनका दूसरा स्‍थान है।

अपनी उल्‍लेखनीय उपलब्धियों के बारे में ईवांस कहते हैं, ''मेहनत से खेलो - बस मेहनत से खेलो। मैंने इस खेल के लिए अपने प्‍यार में महारत हासिल कर ली है।''

प्रत्‍येक रात जहां उन्‍हें विभिन्‍न कौशलों वाले खिलाड़ियों के साथ डिफेंड करने और बॉक्सिंग आउट करने का काम रहता है, वहीं उनका एक हमेशा के‍ लिए स्‍थायी काम होता है प्रत्‍येक विपक्षी को उतनी देर के लिए उसके कंफर्ट जोन से बाहर निकालना जितनी देर वह कोर्ट पर मौजूद रहते हैं।

बड़े और मजबूत विपक्षियों को चकमा देने और उनसे बेहतर करने की असाधारण क्षमता का प्रदर्शन करने वाला यह नं. 30 बास्‍केटबॉल पर कब्‍जा करने के लिए लड़ने-भिड़ने, छीनने और झपटने के लिए हमेशा तैयार रहता है - उनका व्‍यक्तित्‍व जुझारू है और इसकी शिनाख्‍त पेंसाकोला में उनकी जड़ों में की जा सकती है।

वह कहते हैं, ''जिम में कदम रखने के साथ ही मेरा दिमाग तैयार हो जाता है और लॉक हो जाता है। आप कैसे ड्रेस पहनते हैं, कैसी तैयारी करते हैं - सबकुछ - (यह सब जरूरी है)।''

फर. 19 को ब्रुकलिन से अधिग्रहण के बाद से ईवांस ने 24 गेम में से छह में डबल-डिजिट रीबाउंड हासिल किया है, जिसके कारण उन्‍हें स्‍टार्टिंग लाइनअप में जगह दी जाती है ताकि वह अपनी खदबदाती ऊर्जा और मूल्‍यवान नेतृत्‍व से त्‍वरित प्रभाव डाल सकें।

किंग्‍स के मुख्‍य कोच माइकल मलोने कहते हैं, ''(रेग्‍गी) ने हमें खुशी प्रदान की है। कोर्ट पर, उन्‍होंने हमारे लिए शानदार प्रदर्शन किया है। वह ऐसा खिलाड़ी है जिसके बारे में आप जानते हैं कि वह उच्‍चतम स्‍तर पर रीबाउंड करेगा, आप जानते हैं कि वह मजबूत है और डिफेंड कर सकता है... लॉकर रूम में और फ्लोर पर उनकी वरिष्‍ठता से मिलने वाला नेतृत्‍व एक बड़ा योगदान रहा है और टीम के लिए सकारात्‍मक रहा है। (हमें) उनके हमारे साथ होने की अत्‍यंत खुशी है और मेरा ख्‍याल है कि उनके लिए भी अबतक यहां का अनुभव सकारात्‍मक रहा है।''

किंग्‍स के साथ एक स्‍टार्टर के तौर पर, आयोवा के इस उत्‍पाद का औसतर 4.1 प्‍वाइंट और 7.3 रीबाउंड प्रति खेल रहा है - जिसमें मार्च 29 को डलास में एक सीज़न का उच्‍चतम 18 बोर्ड शामिल है - जबकि उन्‍होंने अनेक ऐसे मौके बनाए बॉक्‍स स्‍कोर देखकर जिनका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है।

मलोने कहते हैं, ''रेग्‍गी एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके बारे में मशहूर है कि वह झुकते नहीं हैं, एक सख्‍त लड़का जिसके पास प्रचुर अनुभव है और वे कई अच्‍छी टीमों के साथ खेल चुके हैं। मेरा ख्‍याल है कि उनके आने के पहले दिन से ही, उन्‍हें (लॉकर रूम में) सम्‍मान मिलने लगा था।

एनबीए के खिलाड़ियों को सम्‍मान उन्‍हें हासिल है क्‍योंकि सभी जानते हैं कि वह बहुत शारीरिक बल का प्रयोग करने वाले खिलाड़ी हैं, वह भयभीत नहीं होते और फ्लोर पर अपनी टीम के खिलाड़ियों के लिए जो भी संभव होगा वह करेंगे। मेरा ख्‍याल है कि टीम के सभी सदस्‍य उनका सम्‍मान करते हैं।''

जहां ईवांस ऑल-टाइम रीबाउंडिंग रैंक में ऊपर उठते जा रहे हैं, अपने आदर्श के विपरीत, वे एक सम्‍मानित आक्रमण करने वाले खिलाड़ी के रूप में विकास नहीं कर पाए हैं। लीग के इतिहास में वे रोडमंड और मार्कस कैंबियास के बाद तीसरे खिलाड़ी हैं जिनका औसत 10 रीबाउंड से अधिक है और एक सीज़न में प्रति स्‍पर्धा पांच से कम प्‍वाइंट हैं - ऐसा उन्‍होंने दो बार किया है।

एनबीए में अपने कठिन गैरपरंपरागत पथ और लीग के इतिहास में अपने अनूठे स्‍थान के बारे में सोचते हुए इस तैंतीस वर्षीय खिलाड़ी को इस तथ्‍य से गर्व महसूस होता है कि खिलाड़ियों की एक नई पीढ़ी के लिए वे एक रोल मॉडल की तरह हैं और वे एक दशक से भी ज्‍यादा पहले उनके द्वारा स्‍थापित उदाहरण को दोहराने का प्रयास कर रहे हैं।

वह कहते हैं, ''अब, जब आप खिला‍ड़ियों को ड्राफ्ट होते देखते हैं, वे कहते हैं, 'यह खिलाड़ी अलगा रेग्‍गी ईवांस बनेगा। मुझे लगता है कि कोच नेट ने एनबीए में अपना रास्‍ता खुद बनाने में मेरी सहायता की, और मेरे ख्‍याल से यह शानदार है''।

फ्री थ्रो

सैक्रामेंटो में प्‍लेइंग टाइम में वढ़ोत्तरी के अतिरिक्‍त, ईवांस - जो परिवार के साथ समय बिताने को अपनी एकमात्र ऑफकोर्ट ड्यूटी मानते हैं - इस बात के लिए भी आभार जताते हैं कि उन्‍हें अपने बेटे के साथ समय बिताने का अधिक अवसर मिल रहा है।

वह कहते हैं, ''किंग्‍स को मैं A+ दूंगा क्‍योंकि वे मेरे बेटे को अभ्‍यास पर मेरे साथ आने की इजाजत देते हैं। कोई भी संस्‍था जो मुझे मेरे परिवार के साथ होने की सहूलियत देती है, मेरे लिए अच्‍छी है।''

अपनी प्रसिद्ध ग्‍लास-क्‍लीनिंग के साथ ही, ईवांस - जो अपने कैरियर के अधिकतर समय दाढ़ी उगाए रहे - अपनी बेतरतीब दाढ़ी के कारण उल्‍लेखनीय हो गए हैं।

वह जीभ दबाकर कहते हैं, ''यह मेरा ट्रेडमार्क है। इसकी सबसे मजेदार बात यह है कि जब मेरा बेटा बड़ा होगा और अपना चेहरा देखेगा, तो मैं कहूंगा, 'बेटा, तुम्‍हारे चेहरे पर बिल्‍कुल भी बाल नहीं हैं'।''

- हालांकि अपने कैरियर के दौरान उन्‍हें अनेक उपनामों से नवाजा गया है, पर नं. 30 का कहना है कि उनका पसंदीदा उपनाम पुराना और भरोसेमंद बचपन का पुकार का नाम है।

वह कहते हैं, ''मेरा पुकार का नाम जोकर है - वह मेरी रोटी-दाल है, यही हमेशा के लिए मेरा नाम है। यह मेरे चारों तरफ मौजूद है। जब आप पेंसाकोला जाएंगे, तो आपको 'जोकर' इतनी बार सुनाई देगा कि, आपको 'रेग्‍गी ईवांस' कभी सुनने में ही नहीं आएगा। पेंसाकोला में अगर आपको 'रेग्‍गी ईवांस' सुनाई दे तो समझ जाइए के वे मेरे प्रशंसक हैं। अगर 'जोकर' सुनाई दे तो समझ जाइए कि वे मुझे व्‍यक्तिगत तौर पर जारते हैं।''